HomeFitnessजिम जाते हैं लेकिन बॉडी नहीं बनती है तो क्या करें

जिम जाते हैं लेकिन बॉडी नहीं बनती है तो क्या करें

Fitness
Photo- Mensxp

आज देश का युवा वर्ग फिटनेस (Fitness) को लेकर काफी जागरूक और सर्तक है. जिम जाना अब लाइफस्टाइल (Lifestyle) का हिस्सा बन चुका है लेकिन इस लाइफस्टाइल को जीने और खुद को दूसरों से अच्छा बनाने की चाह में लोग कई तरह की गलतियां कर बैठते हैं. आज हम आपको उन्हीं गलतियों में से 5 बड़ी गलतियों के बारे में इंफोग्राफिक्स की मदद से समझाएंगे जिन्हें समय पर ठीक कर लेने से आपको जिम में होने वाली तमाम मुश्किलों जैसे मांसपेशियों में दर्द, मसल ग्रोथ ठीक से नहीं होना आदि से छुटकारा मिल जाएगा.

बॉडी नहीं बनती है तो क्या करें

जिम जाते हैं लेकिन बॉडी नहीं बनती है तो क्या करें। जब भी आप जिम में एक्सरसाइज करने जाते हैं तो आपको एक्सरसाइज शुरू करने से पहले अच्छी तरह से वार्म-अप करके बॉडी को गर्म करना चाहिए. साथ ही स्ट्रेचिंग भी करनी चाहिए. यदि आप ऐसा नहीं करते हैं, तो व्यायाम के दौरान आपकी मांसपेशियां सख्त हो सकती हैं और आपको चोट, मांसपेशियों में तनाव की समस्या हो सकती है। इसलिए एक्सरसाइज करने से पहले वार्मअप जरूर करें। फास्ट बॉडी (Fitness) बनाना कौन नहीं चाहेगा? कोई हल्क बनना चाहता है, कोई सुपरमैन और कोई वंडरवुमन।

ज्यादा एक्सरसाइज

यही कारण है कि जिम में लोग कभी-कभी शरीर के हर हिस्से की बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं, क्योंकि इससे मसल्स बनने की बजाय टूटना शुरू हो जाता है। मसल लॉस भी कहा जाता है। अत्यधिक व्यायाम भी गहरी मांसपेशियों को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए अपने कोच की बात सुनें और व्यायाम रूटीन का पालन करें। जब आप व्यायाम करना शुरू करते हैं, तो आपको सेट के बीच अपनी मांसपेशियों को एक अच्छा आराम देने की आवश्यकता होती है।

एक ही व्यायाम को दोहराने से

यदि आप बिना आराम किए नियमित रूप से किट का उपयोग करते हैं, तो इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। इसका मतलब यह है कि हर दिन एक ही व्यायाम को दोहराने से आप अपने शरीर के उस हिस्से को आराम नहीं कर पाएंगे जिसे आप प्रशिक्षण दे रहे हैं। यह आपको मांसपेशियों की क्षति से हड्डी की क्षति की ओर बढ़ने की अनुमति देगा। इसलिए प्रतिदिन शरीर के विभिन्न अंगों को प्रशिक्षित करें। इससे आपकी मसल्स को रिकवर होने का पूरा समय मिलता है और साथ ही आप अपने मन मुताबिक बॉडी हासिल करते हैं। बहुत से लोगों को यह भ्रम होता है कि अगर हम सिर्फ जिम में कसरत करें और सब कुछ खा लें, तो यह काम करेगा।

एक्सरसाइज करने वाले हर शख्स की डाइट अलग

मगर हम आपको बता दें ऐसा कुछ भी नहीं हैं. जिम में जो एक्सरसाइज आप करते हैं वह केवल 25-30% तक ही काम करती है बाकी खेल डाइट का होता है. वैसे तो एक्सरसाइज करने वाले हर शख्स की डाइट अलग होती है. किसी को मसल साइज बढ़ाना होता है तो वह अपनी डाइट में प्रोटीनयुक्त आहार(जैसे चिकन,पनीर, दूध, सोया आदि) अधिक रखते हैं और जिन्हें वजन घटाना होता है तो वह कम कार्बोहाइड्रेट वाली डाइट लेते हैं जिनमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है. अगर आप एक्सरसाइज के बाद समय पर एक बैलेंस डाइट लेते हैं तो आपको यकीनन फायदा मिलेगा और अगर आप ठीक से डाइट नहीं लेते तो आपको उसके नकारात्मक परिणाम भी भुगतने पड़ सकते हैं.

कार्डियो वर्कआउट महत्वपूर्ण

न केवल मजबूत मांसपेशियों के निर्माण के लिए, बल्कि मांसपेशियों की टोन को बनाए रखने और दैनिक कार्यों को तेजी से पूरा करने में आपकी मदद करने के लिए शक्ति प्रशिक्षण और कार्डियो वर्कआउट महत्वपूर्ण हैं। 10 में से 1-2 लोग ही इसे जिम में करते हैं। हम आपको बताएंगे कि सबसे बड़े एथलीट भी सप्ताह में कम से कम एक बार स्ट्रेंथ और कार्डियो ट्रेनिंग करते हैं, शरीर में लचीलापन लाते हैं और वजन बढ़ाने में आपकी मदद करते हैं।

 

नोट: आज कल के युवा जल्दी बॉडी (Fitness) बनाने के लिए स्ट्रोइड लेने लगते हैं जो की बिलकुल गलत है जल्दी बॉडी बनाने में कारगर यह रास्ता आपकी जान भी ले सकता है। इस जहर से खुद भी बचें और दूसरों को भी लेने से रोकें। फिटनेस (Fitness) को अच्छा बनाने के लिए सिर्फ नेचुरल फ़ूड का ही इस्तेमाल करना चाहिए या आप कोई ब्रांडेड प्रोटीन ले सकते हैं। 

stay healthy stay safe

 

यह भी पढ़ें-  जिस रोड के टेंडर की बोली धीरू अम्बानी ने 3600 करोड़ रुपये लगाई थी, उसको नितिन गडकरी ने 1600 करोड़ में पूरा किया था

Source

India Times News
India Times Newshttps://www.indiatimesnewstoday.com
Ajay Srivastava founder india times news . Through his life, Ajay Srivastava has always been the strongest proponent of News an media. Over the years, he has lent his voice to a number of issues but has always remained focused on propagating non-violence, equality and justice.
RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Most Popular

Recent Comments