HomeHindiWorld Environment Day: अगर भारत से ख़त्म हुए तो धरती के किसी...

World Environment Day: अगर भारत से ख़त्म हुए तो धरती के किसी भी कोने में नहीं खोज पाएंगे ये जीव

World Environment Day: पशु-पक्षी धरती पर जीवन के आपस में जुड़े ब्लॉक्स जैसे हैं, पूरे विश्व की तरह भारत में भी यह ब्लॉक्स तेजी से खत्म हो रहे हैं। इस साल विश्व पर्यावरण दिवस को ‘ओनली वन अर्थ’ यानी केवल एक पृथ्वी थीम भी इसी सोच के साथ दी गई है कि ताकि इन जीवों के संरक्षण पर सभी का ध्यान पड़े सके। तीन वर्षों में भारत में कुछ खास जीव खोजे गए। इन जीवों का संरक्षण इसलिए भी जरूरी है क्योंकि यहां से खत्म होने के बाद ये धरती पर शायद कभी नहीं मिलेंगे। जानिए देश में मिले इन नए निवासियों के बारे में।

World Environment Day: तीन वर्षों में भारत में कुछ खास जीव खोजे गए

1 कैलियोप

Calliope Hummingbird - eBird
जापान, कोरिया और चीन में बिरले नजर आने वाली यह दुर्लभ चिड़िया अंडमान निकोबार में पहली बार नजर आई। वैज्ञानिक एसोसिएशन के वैज्ञानिकों ने इसके भारत में मिलने की पुष्टि की।

2 बिच्छू…जो हिमाचल और उत्तराखंड में मिले
हिमाचल और उत्तराखंड सहित नेपाल में 9 नई प्रजातियों के बिच्छू दर्ज किए गए। इन्हें चेक गणराज्य के वैज्ञानिकों के नाम पर स्कॉर्पियोप्स कोवारिक ग्रोसेरी, केजवली और ट्रइज्नाई के तौर पर पहचान दी गई।

3 जूथेरा सिट्रिन

Orange-headed Thrush (Zoothera citrina)_DSC3343-2 | Nice to … | Flickr
नारंगी सिर की इस चिड़िया को भारत में खत्म मान लिया गया था। म्यांमार के दक्षिणी क्षेत्रों में कुछ लोगों ने इसे देखने की पुष्टि की थी। फिर एक चमत्कार जैसा हुआ और यह अंडमान निकोबार द्वीप में नजर आई। जर्नल ऑफ अंडमान साइंस एसोसिएशन ने 2020 में इस पर रिपोर्ट जारी की।

4 सांप…जिसे हैरी पॉटर सीरीज के कैरेक्टर से मिला नाम- World Environment Day Today

Meet Salazar's pit viper – a new snake species named after the parseltongue  wizard | Research Matters
अरुणाचल प्रदेश में ट्रामेरेसुरुज सालाजार सांप को वन्य जीव विशेषज्ञ अयाज मिर्जा ने खोजा। इसे हैरी पॉटर सीरीज के एक कैरेक्टर सालाजार स्लिथरीन के नाम पर पहचान दी गई।

5 रंगीला ड्रैगन फ्लाय

Dragon fly stock photo. Image of flower, nature, colorful - 42434338
केरल के कोल्लम में शेंदुर्नी वन्यजीव अभयारण्य से से तीन तरह के ड्रैगन फ्लाय तलाशे गए। इनमें प्रोटोस्टिकटा साइनोफेमोरा को नीले रंग की वजह से सबसे विलक्षण पाया गया। इसे कीट – विशेषज्ञ एस जोशी के नाम पर प्रोटोस्टिकटा साइनोफेमोरा जोशी नाम दिया गया।

6 बंगाल की खाड़ी से नई मछली

Madagascar Shark Hunters Find 420M Year Old Extinct Four Legged Fossil Fish  Coelacanth Alive: मेडागास्‍कर तट पर मिली डायनासोर के काल की मछली, 42 करोड़  साल पुरानी मछली के हैं 4 पैर -
अन्नामलाई विश्वविद्यालय के सहयोग से भारतीय वैज्ञानिकों ने बंगाल की खाड़ी में नई प्रजाति की मछली पैरापर्सिस अन्नामलई योसुवा को खोजा। इसे विश्वविद्यालय के नाम पर भी पहचान दी गई।

  • 15,64,647 प्रजातियों के पशु-पक्षी अब  तक खोजे गए हैं धरती पर, जो अभी अस्तित्व में हैं
  • 1,02,718 इनमें से भारत में मिलते हैं
  • 6.56% है यह धरती पर मौजूद कुल प्रजातियों का
  • 30 लाख से 10 करोड़ तक पशु-पक्षियों व मछलियों की प्रजातियां धरती पर होने का अनुमान अलग अलग वैज्ञानिक लगाते आए हैं
  • इनमें 15.64 लाख दर्ज हैं, यानी अब भी बहुत बड़ी संख्या में प्रजातियों को दर्ज करना बाकी है।
नई प्रजातियां मिलीं
  • बीते 270 वर्षों में 12.5 लाख
  • बीते 10 साल 4,112
  • खास बात है कि भारत में सरकारी वन्य जीव विशेषज्ञों ने 34% प्रजातियों को दर्ज किया, तो वहीं बाकी को गैर-सरकारी विशेषज्ञों के जरिए दर्ज किया गया।
  • अनुमान है कि सभी जीवों को दर्ज करने में मानव को करीब 1300 वर्ष लग जाएंगे
स्रोत : जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया रिपोर्ट्स/ ग्लोबल बायोडायवर्सिटी इन्फॉर्मेशन एंड फैसिलिटी रिपोर्ट
India Times News
India Times Newshttps://www.indiatimesnewstoday.com
Ajay Srivastava founder india times news . Through his life, Ajay Srivastava has always been the strongest proponent of News an media. Over the years, he has lent his voice to a number of issues but has always remained focused on propagating non-violence, equality and justice.
RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Most Popular

Recent Comments