Times of India Hindi: भयावह घटना मंदिर में करंट लगने के कारण ग्यारह लोगों की मौत

Times of India Hindi: तमिलनाडु के तंजावुर से एक भयावह घटना सामने आई है। त्योहार के दौरान मंदिर में बिजली के कारण ग्यारह लोगों की मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि घटना तब हुई जब रथ यात्रा मंदिर से निकली। इस घटना में कई लोगों के घायल होने की भी खबर है.

कोरोना ने बढ़ाई टेंशन!

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए विभिन्न देशों के प्रधानमंत्रियों से बात करेंगे. पीएम मोदी ने ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी. उन्होंने एक ट्वीट पर कहा कि वह “राज्य के मंत्रियों के साथ बातचीत करेंगे और बुधवार को दोपहर 12 बजे कोरोना की स्थिति की जांच करेंगे।”

पीएमओ पहले कह चुका है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री राजेश भूषण बैठक में प्रेजेंटेशन देंगे. देश के कई देशों में कोरोना वायरस के संक्रमण और मौतों का सिलसिला फिर से बढ़ने लगा है. रविवार के मन की बात कार्यक्रम में, प्रधान मंत्री मोदी ने लोगों से कोविड से संबंधित निवारक उपायों को जारी रखने का आह्वान किया।

प्रधानमंत्री मोदी के साथ इस बैठक में प्रधानमंत्री कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल होंगे. बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और उनके मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों के शामिल होने की संभावना है।

भारतीय दवा नियामक ने 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए दो COVID-19 टीकों के आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने घोषणा की कि ड्रग कंट्रोलर जनरल (DCGI) ने 5 से 12 साल के बच्चों के लिए बायोलॉजिक्स-ई कॉर्बेवैक्स वैक्सीन और 6 से 12 साल के बच्चों के लिए भारत बायोटेक के कोवैक्सिन को मंजूरी दे दी है।

DCGI ने 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों के लिए Zydus Cadila के कोविड टू-डोज़ वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग को भी मंजूरी दी। Zycov-D की ये दो खुराक 0 और 28 दिनों पर दी जाती हैं। पहले, Zycov-D की तीन खुराक दी जाती थीं।

 

यह भी पढ़ें-  हनुमान चालीसा विवाद दोषी अमरावती कुर्सी पर चाय पीती नजर आई, आखिर क्यों नेताओं के आगे झुकती है पुलिस, क्या नेताओं की

Source

हनुमान चालीसा विवाद दोषी अमरावती कुर्सी पर चाय पीती नजर आई, आखिर क्यों नेताओं के आगे झुकती है पुलिस, क्या नेताओं की

navneet_rana.png
photo- patrika

यह वीडियो मुंबई के खार पुलिस स्टेशन का बताया जा रहा है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की कोशिश में जब नवनीत राणा और उनके पति को गिरफ्तार किया गया था तब उन्हें खार पुलिस स्टेशन ही लाया गया था. उसी थाने में पुलिस अधिकारी के सामने कुर्सी पर बैठकर सांसद और उनके पति चाय पीते नजर आ रहे हैं. ऐसे में नवनीत के मुंबई पुलिस पर लगाए गए आरोप झूठे साबित हुए.

गौरतलब हो कि सोमवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर नवनीत राणा ने आरोप लगाया था कि अनुसूचित जाति से होने के कारण थाने में उन्हें पीने के लिए पानी तक नहीं दिया गया. उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि बाथरूम तक की सुविधा उन्हें नहीं दी गई. नवनीत के आरोप से मुंबई पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे थे, लेकिन अब कमिश्नर ने सीसीटीवी वीडियो शेयर कर नवनीत राणा के झूठ का पर्दाफाश कर दिया है

यह भी पढ़ें-  MCD की बड़ी कार्यवाही, जहांगीरपुरी के बाद शाहीन बाग और ओखला में चलेगा

Source 

MCD की बड़ी कार्यवाही, जहांगीरपुरी के बाद शाहीन बाग और ओखला में चलेगा

1

दिल्ली के जहांगीरपुरी (Jahangirpuri) में अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाने के बाद एक बार फिर MCD बड़ी कार्रवाई की तैयारी में है। अवैध निर्माण हटाने के लिए अब एमसीडी (MCD) का बुलडोजर दिल्ली के शाहीन बाग समेत कई इलाकों में चलने वाला है। बता दें कि जहांगीरपुरी में अवैध निर्माण तोड़ने पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी थी, जिसके बाद से यहां एनसीडी की कार्रवाई बंद है।

दिल्ली में एक बार फिर एमसीडी का बुलडोजर निकलने वाला है। जहांगीरपुरी में अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई के बाद एक बार फिर एमसीडी बड़े एक्शन की तैयारी में जुटी है। इस बार शाहीन बाग की बारी है। एमसीडी ने इस बार शाहीन बाग को चिन्हित किया है।
सिर्फ शाहीन बाग ही नहीं, बल्कि इसके अलावा दिल्ली के ओखला, तिलक नगर वेस्ट के साथ-साथ कई वार्डों को चिन्हित किया गया है, जहां पर बुलडोजर को अवैध निर्माण हटाने के लिए तैयार किया जा रहा है। इन इलाकों में सरकारी जमीन पर हुए अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा। बता दें कि जहांगीरपुरी में एमसीडी की कार्रवाई पर सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद से कार्रवाई बंद है।
Delhi Demolition Drive MCD Set to Run Bulldozer In Shaheen Bagh and Other Areas

First Toursism Helipad of India: लखनऊ से मात्र 1 हजार रुपए में हेलीकॉप्टर से घूम सकेंगे आगरा, वाराणसी, मथुरा

photo- Shephard
लखनऊ से मात्र 1 हजार रुपए में हेलीकॉप्टर से घूम सकेंगे आगरा, वाराणसी, मथुरा। उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बड़ा फैसला करते हुए टूरिज़्म के क्षेत्र में एक बड़ी शुरुआत कर दी है। जिससे अब मात्र एक हज़ार रु में लखनऊ से वाराणसी घूमने का मौका मिलेगा। साथ ही देश का पहला टूरिस्ट हेलीपैड भी लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में बनाने की शुरुआत आज से कर दी गई है। ऐसे में देश भर से टूरिस्ट अब यहाँ आकर हवाई सफर के साथ टूरिज़्म का मज़ा उठा सकेंगे। जिससे प्रदेश में रोजगार भी बढ़ेगा और दुनियाभर में नाम भी होगा। साथ ही डायरेक्ट या इनडायरेक्ट तौर पर रोजगार बढ़ेगा।
1 हज़ार में हवाई यात्रा 

हालांकि लोकभवन में हुई कैबिनेट की इस बैठक में अन्य भी महत्वपूर्ण निर्णय हुए। वहीं सूत्रों के अनुसार सरकार हर एक व्यक्ति को हवाई सफर की ओर आकर्षित करने के लिए एक हज़ार रु में लखनऊ से काशी की यात्रा कराने का मूड बना चुकी है। जल्दी ही इसे शुरू किया जाएगा। जबकि लखनऊ से आगरा, वाराणसी, मथुरा की यात्रा की जा सकती है।

Booking of Helicopter Service
 

यूपी में हेलीकाप्टर सेवा की बुकिंग (Booking of Helicopter Service) ऑनलाइन बूकिंग की व्यवस्था शुरू की गई है। जिससे लोगों को हेलीपैड के पास वेटिंग रूम में इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा। वो अपने समय के अनुसार ही आ सकेंगे। हालांकि इसकी बुकिंग कब से शुरू होगी इस पर अभी कुछ भी सरकार की ओर से नहीं कहा गया है।

कैबिनेट में हुआ निर्णय 

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से कैबिनेट बैठक में ये निर्णय लिया गया है। जिसके बाद अब इस योजना को जल्द ही पूरा करके जनता के लिए इसकी शुरुआत कर दी जाएगी। टूरिज़म सेक्टर की इस बड़ी योजना के साथ ही उत्तराखंड में उत्तर प्रदेश के होटल भी खोलने की तैयारी कर ली गई है। जो कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के बँटवारे के समय से ही फंसा हुआ था। जिसे अब सोलव कर लिया गया है।

वहीं प्रदेश में बेहतर मेडिकल सुविधाओं के लिए भी डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कई घोषणाएँ की हैं। जिसमें मेडिकल स्टाफ की भर्ती भी शामिल है।

पौड़ी के थाना क्षेत्र पैठाणी में बरात से लौट रहे वाहन दुर्घटनाग्रस्त छह की मौत, सीएम ने जाता शोक

Pauri accident
Pauri accident – फोटो : अमर उजाला

Pauri Accident : पौड़ी जनपद के थाना क्षेत्र पैठाणी में बरात से लौट रहा एक वाहन(मैक्स) दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। जिसमें पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया है। दो घायलों का सीएचसी पैठाणी व छह घायलों का उपचार जिला अस्पताल पौड़ी में चल रहा है।

पुष्कर सिंह धामी ने भी दुर्घटना पर गहरा शोक जताया 

दुर्घटना पर राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से. नि.) ने मृतक व्यक्तियों के प्रति गहरा दुख प्रकट किया है। उन्होंने मृत आत्माओं की  शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। राज्यपाल ने दुर्घटना में घायल लोगों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी दुर्घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया। उन्होंने दिवंगत आत्माओं की शांति और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को घायलों के समुचित उपचार के निर्देश दिए।

एसएसपी यशवंत सिंह चौहान ने जिला अस्पताल पौड़ी पहुंच घायलों का हालचाल जाना

इसके अलावा स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने दुख जताते हुए संवेदना प्रकट की। वहीं डीएम डॉ. विजय कुमार जोगदंडे, एसएसपी यशवंत सिंह चौहान ने जिला अस्पताल पौड़ी पहुंच घायलों का हालचाल जाना।

सोमवार को थाना क्षेत्र पैठाणी के डोबरी गांव से एक बरात सिलोली गांव गई थी। देर शाम बरात विदाई के बाद वापस डोबरी लौट रही थी। लेकिन इसी दौरान बरातियों से भरी एक मैक्स स्योली मल्ली-टीला मोटर मार्ग पर स्योली मल्ली के पास अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई। घटना की सूचना पर पुलिस टीम ने मौके पर पहुंच स्थानीय लोगों के साथ रेस्क्यू अभियान चलाया। दुर्घटना में जाख गांव की एक ही परिवार की दो बेटियों की मौत हो गई है।

सीएचसी पाबौ में उपचार के दौरान मोनिका ने दमतोड़ दिया

थानाध्यक्ष पैठाणी वीरेंद्र रमोला ने बताया कि बरातियों से भरी मैक्स दुर्घटना में चालक अंकित (25) पुत्र प्रकाश लाल निवासी स्योली तल्ली, हयात सिंह पुत्र प्रताप सिंह सिलोली, मेहरवान सिंह पुत्र केदार सिंह सिलोली, जांख निवासी कलम की बड़ी बेटी अंबिका (18) और पांच वर्षीय दृष्टि की मौके पर ही मौत हो गई थी। थानाध्यक्ष रमोला ने बताया कि 108 सेवा के सहयोग से दो घायलों को सीएचसी पैठाणी व सात को सीएचसी पाबौ में भर्ती कराया गया। सीएचसी पाबौ में उपचार के दौरान मोनिका ने दमतोड़ दिया। यहां से छह घायलों को जिला अस्पताल पौड़ी रेफर किया गया। हादसे के बाद क्षेत्र में शोक की लहर है। प्रदेश के शिक्षा व स्वास्थ्य मंत्री ने घायलों के उपचार को लेकर जिलाधिकारी को दिशा-निर्देश दिए हैं।

छह का पौड़ी व दो का पैठाणी में चल रहा उपचार

छह घायलों का जिला अस्पताल पौड़ी व दो घायलों का उपचार सीएचसी पैठाणी में चल रहा है। जिला अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. गौरव रतूडी ने बताया वीरेंद्र, कंचन, दिया, राहुल, प्रिया, किरन का उपचार चल रहा है। थानाध्यक्ष पैठाणी रमोला ने बताया घायल रविंद्र पुत्र रोशन सिंह ग्राम इसोटी एकेश्वर ब्लॉक, मोहन सिंह पुत्र हयात सिंह सिलोली का उपचार सीएचसी पैठाणी में चल रहा है।

14 लोग से वाहन में सवार

दुर्घटनाग्रस्त वाहन बरातियों से ओवरलोड होकर चल रहा था। थानाध्यक्ष वीरेंद्र रमोला ने बताया कि मैक्स वाहन में 14 बराती सवार थे। उन्होंने बताया कि दुर्घटना के कारणों की पड़ताल की जा रही है

हादसों को न्यौता दे रहा है मोटर मार्ग

जिला पंचायत सदस्य टीला गणेश नेगी ने कहा कि स्योली मल्ली-टीला मोटर मार्ग खस्ताहाल पड़ा हुआ है। इसको लेकर लोनिवि के अधिकारियों को कई बार मौखिक व लिखित शिकायत दी गई। उन्होंने मोटर मार्ग को जल्द दुरुस्त बनाए जाने की मांग की।

IRCTC News : रेलवे संबंधी सभी तरह की कम्प्यूटरीकृत पूछताछ सेवा 26 जून की देर रात 11.45 बजे से 2:15 बजे तक बंद

IRCTC News : तकनीकी सुधार के लिए रेलवे ने पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम (PRS) को अस्थायी रूप से स्थगित करने का निर्णय लिया है। 26 जून की देर रात 11.45 बजे से 2:15 बजे तक पीआरएस पूछताछ को बंद रखा जाएगा। इस दौरान रेलवे (Railway) संबंधी सभी तरह की कम्प्यूटरीकृत पूछताछ सेवा बंद रहेगी।

मंगलवार की देर रात से ढाई घंटे तक रेलवे से संबंधित कामों में लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ेगा। इस दौरान आईवीआरएस/टच स्क्रीन, कॉल सेंटर (टेलीफोन नंबर-139) के माध्यम से भी किसी तरह की ट्रेनों से संबंधित जानकारी नहीं मिलेगी। साथ ही कम्प्यूटर द्वारा चालू आरक्षण बुकिंग का काम काज भी बंद रहेगा। इस दौरान न तो यात्रा टिकट जारी होंगे और न ही टिकट निरस्त हो सकेगा। लिहाजा अगर आप मंगलवार को ट्रेन से यात्रा करने की सोच रहे हैं तो अपने ट्रेन की जानकारी रात पौने बारह बजे के पहले कर लें।

रेलवे अधिकारियों के अनुसार, 139 पूछताछ सेवा के साथ ही इस दौरान आईआरसीटीसी की वेबसाइट से ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग भी नहीं होगी। रेलवे स्टेशन पर स्थित न तो डोरमेट्री की ऑनलाइन बुकिंग होगी और न ही रिटायरिंग रूम की। अपग्रेडेशन काम के लिए इस दौरान कंप्यूटरिकृत सेवा बंद की जाती है। 

ट्विटर का सौदा पूरा, नय मालिक बने एलन मस्क देखें कितने में हुई डील

1

twitter owner: कई दिनों की उठापटक के बाद आखिरकार ट्विटर पर दुनिया के सबसे अमीर इंसान एलन मस्क (Elon Musk, the world’s richest man) का ट्विटर पर मालिकाना (Twitter Owner) हक हो गया है। खबर है कि ट्विटर इंक (Twitter Inc.) ने इसे अरबपति एलन मस्क (Billionaire Elon Musk) को 44 अरब डॉलर यानी 3,368 अरब रुपये में बेच दिया है। कंपनी बोर्ड ने इस संबंध में मंजूरी दे दी है। इस हिसाब से मस्क को ट्विटर के हर शेयर के लिए 54.20 डॉलर (4148 रुपये) चुकाने होंगे। ट्विटर के इंडिपेंडेंट बोर्ड के चेयरमैन ब्रेट टेलर ने सोमवार रात 12 बजे के बाद एक प्रेस रिलीज में मस्क के साथ हुई डील के बारे में जानकारी दी।

इस सौदे ने टेस्ला के सीईओ को 217 मिलियन उपयोगकर्ताओं वाली कंपनी का मालिकाना हक दे दिया है। ट्विटर अटलांटिक के दोनों किनारों पर राजनीतिक और मीडिया एजेंडे को आकार देने में एक प्रभावशाली भूमिका निभाता है। लेन-देन को स्वीकार करने के लिए ट्विटर की शुरुआती अनिच्छा उस समय फीकी पड़ गई, जब मस्क ने सौदे के लिए एक फंडिंग पैकेज की पुष्टि की और शेयरधारकों ने गर्मजोशी से इसका स्वागत किया।

ट्विटर को पहले से बेहतर बनाना चाहता हूं: मस्क
एलन मस्क ने सौदे की घोषणा करते हुए एक बयान में कहा, “बोलने की आजादी एक कामकाजी लोकतंत्र का आधार है, और ट्विटर डिजिटल टाउन स्क्वायर है जहां मानवता के भविष्य के लिए महत्वपूर्ण मामलों पर बहस होती है। मैं नई सुविधाओं के साथ उत्पाद को बढ़ाकर, विश्वास बढ़ाने के लिए एल्गोरिदम को खुला स्रोत बनाकर, स्पैम बॉट्स को हराकर और सभी मनुष्यों को प्रमाणित करके ट्विटर को पहले से बेहतर बनाना चाहता हूं।” उन्होंने कहा, “ट्विटर में जबरदस्त क्षमता है। मैं कंपनी और उपयोगकर्ताओं के समुदाय के साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं।”

ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल ने एक बयान में कहा, “ट्विटर का एक उद्देश्य और प्रासंगिकता है जो पूरी दुनिया को प्रभावित करती है। मुझे अपनी टीमों पर बहुत ज्यादा गर्व है और उनके काम से प्रेरित हूं, जिनके लिए इससे अधिक कुछ और महत्वपूर्ण नहीं है।”

इससे पहले सोशल मीडिया दिग्गज ट्विटर को खरीदने के प्रस्ताव के बाद ट्विटर बोर्ड और एलन मस्क के बीच चल रही बातचीत के दौरान टेस्ला के सीईओ मस्क ने सोमवार को एक ट्वीट किया था, “उम्मीद है कि अगर वह इस प्लेटफॉर्म को संभालते हैं तो उनके “सबसे बड़े आलोचक” भी ट्विटर पर बने रहेंगे।

फ्री स्पीच की वकालत करते हुए मस्क ने लिखा, “मुझे उम्मीद है कि मेरे सबसे बड़े आलोचक भी ट्विटर पर बने रहेंगे क्योंकि फ्री स्पीच का यही अर्थ है।” वर्तमान में उनके ट्विटर पर 83 मिलियन से अधिक फॉलोअर्स हैं।

मस्क ने पहले दिया था 43 अरब डॉलर का ऑफर
माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर अब दुनिया के सबसे अमीर इंसान एलन मस्क के हाथों में चला गया है। रिपोर्ट के अनुसार, ट्विटर इंक TWTR.N एलन मस्क के प्रस्तावित 54.20 डॉलर प्रति शेयर नकद में खरीदने के सौदे को लेकर विचार कर रहा था। बता दें कि मस्क ने पहले 43 अरब डॉलर यानी करीब 3273.44 अरब रुपये में ट्विटर को खरीदने का ऑफर दिया था। मस्क ने कहा था कि यह उनका ‘सर्वश्रेष्ठ और अंतिम’ ऑफर है। लेकिन मस्क ने सोमवार को इसमें एक अरब डॉलर का इजाफा किया और 44 अरब डॉलर में ट्विटर इंक ने इसे एलन मस्क को सौंप दिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस बारे में कहा जा रहा था कि मस्क ट्विटर के बोर्ड के साथ रविवार और सोमवार की शुरुआत में ट्विटर को 54.20 डॉलर प्रति शेयर के हिसाब से खरीदने के लिए बातचीत हो रही थी। सोमवार को ट्विटर के शेयर 5.5 फीसदी की तेजी के साथ 51.60 डॉलर पर बंद हुआ था। लेकिन वह अभी भी मस्क के ऑफर प्राइस से नीचे था।

वायरल हुआ मस्क का पांच साल पुराना ट्वीट
ट्विटर इंक पर मस्क के मालिकाना हक की खबर के बीच मस्क का पांच साल पुराना ट्वीट वायरल हो रहा है। जब उन्होंने कहा था- मुझे ट्विटर बहुत पसंद है और फिर पूछ ली थी प्लेटफॉर्म की कीमत।

 

 

यह भी पढ़ें-  आंकड़ों के मुताबिक 22 साल में भारत और पड़ोसी देशों में 1.40 लाख आतंकी हमले, ये देश भी शामिल

सोर्स

आंकड़ों के मुताबिक 22 साल में भारत और पड़ोसी देशों में 1.40 लाख आतंकी हमले, ये देश भी शामिल

1

आंकड़ों के मुताबिक 22 साल में भारत और पड़ोसी देशों में 1.40 लाख आतंकी हमले (terrorist attacks) । जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) में अनुच्छेद 370 (Article 370) हटने के बाद रविवार को पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) एक दिन के दौरे पर यहां पहुंचे। उन्होंने यहां पंचायती राज दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की। कई योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से पहले एक हफ्ते के अंदर तीन आतंकी हमले हुए। इसमें 11 आतंकी मारे गए तो एक जवान भी शहीद हो गया।

ये पहली बार नहीं था, जब जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले हुए। ऐसा भी नहीं है कि केवल जम्मू कश्मीर या हिंदुस्तान में ही आतंकी हमले होते हैं। दक्षिण एशिया के देशों में ये बड़ी समस्या है। खासतौर पर भारत में आंतकवाद को बढ़ावा देने वाले पाकिस्तान और अफगानिस्तान में ऐसी घटनाएं सबसे ज्यादा होती हैं।

22 साल में किस देश में कितने आतंकी हमले हुए?

देश   आतंकी हमले
अफगानिस्तान 64.27 हजार
पाकिस्तान 29.81 हजार
भारत 23.57 हजार
श्रीलंका 14.480
नेपाल 7.135
बांग्लादेश 5,907
मालदीव 34
भूटान 28

(आंकड़े वर्ष 2000 से लेकर 19 अप्रैल 2022 तक के हैं।)
सोर्स : साउथ एशिया टेररिज्म पोर्टल

1.40 लाख हमले, 1.85 लाख दहशतगर्द हुए ढेर
भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, श्रीलंका, भूटान, नेपाल, मालदीप में वर्ष 2000 से लेकर 19 अप्रैल 2022 तक यानी 22 साल में कुल 1.40 लाख आतंकी हमले हुए हैं। इनमें 1.85 लाख दहशतगर्द एनकाउंटर में ढेर हो गए। 73 हजार 688 लोग भी इन हमलों में बेमौत मारे गए।

अब एक-एक करके देशों के हालत देख लीजिए

घाटी में आतंकवाद की टूटती कमर। – फोटो : अमर उजाला
भारत : 23 हजार हमले, 23 हजार आतंकी मारे गए
भारत में आतंकी घटनाओं के बारे में जानने के लिए हमने साउथ एशिया टेररिज्म पोर्टल यानी एसएटीपी को खंगाला। भारत में छह मार्च 2000 से लेकर 19 अप्रैल 2022 तक कुल 23 हजार 57 आतंकी हमले हुए। इनमें 14 हजार 98 आम नागरिक मारे गए, जबकि 7,392 सुरक्षाबल के जवान शहीद हुए। हालांकि, इस दौरान हमारे जवानों ने 23 हजार 472 आतंकवादियों को ढेर कर दिया।

  • जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से आतंकी घटनाओं में कमी आई है। 5 अगस्त 2019 को अनुच्छेद 370 हटा। इसके पहले की 841 दिनों में 843 आतंकी घटनाएं हुई थीं। यानी, अनुच्छेद 370 हटने के पहले औसतन रोज एक आतंकी घटना होती थी। 370 हटने के बाद के 841 दिन में घाटी में केवल 496 आतंकी घटनाएं हुईं। इस लिहाज से घाटी में होने वाली आतंकी घटनाओं में करीब 42 फीसदी की कमी आई है।
  • घाटी में पाकिस्तान की तरफ से आतंकवादियों की होने वाली घुसपैठ में भी कमी आई है। गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार 2018 में 143 घुसपैठ की कोशिशें हुईं। 2019 में 141,  2020 में 51 तो 2021 में महज 32 घुसपैठ की कोशिशें हुईं।  इस साल जनवरी 2022 से लेकर 15 मार्च 2022 तक घुसपैठ की कोशिश के केवल सात मामले दर्ज हुए हैं।
अफगानिस्तान : 64.27 हजार हमले, 94 हजार 439 आतंकी मारे गए
22 साल में सबसे ज्यादा अफगानिस्तान में आतंकी हमले हुए। यहां वर्ष 2000 से लेकर 19 अप्रैल 2022 तक 64.27 हजार घटनाएं हुईं हैं। इनमें 94 हजार 439 आतंकी मारे गए। इस दौरान 14 हजार 290 सुरक्षाकर्मी और 24 हजार 163 आम नागरिकों की भी मौत हुई। इस दौरान 42 हजार 134 आतंकियों ने सरेंडर किया जबकि 7,881 दहशतगर्द पकड़े गए।

पाकिस्तान : 29 हजार 813 हमले, इसमें 28 हजार लोग मारे गए
आतंकवादियों को सबसे ज्यादा संरक्षण देने वाला पाकिस्तान खुद भी आतंकी घटनाओं से बच नहीं पाया है। यहां पिछले 22 साल के अंदर 29 हजार 813 आतंकी घटनाएं हुईं हैं। इनमें 20 हजार 921 आम नागरिक और 7641 जवान मारे गए। एसएटीपी के मुताबिक, इस दौरान 33 हजार 562 आतंकवादी भी मारे गए हैं।

पाकिस्तान में 9,930 आतंकियों ने सरेंडर किया, जबकि 60 हजार 840 को यहां की पुलिस और सेना ने गिरफ्तार किया। पाकिस्तान में 598 सुसाइड अटैक भी हुए हैं। मतलब आतंकवादी ने खुद को भीड़-भाड़ वाले इलाके में ब्लास्ट कर दिया। इसमें 14538 जवान और आम नागरिक मारे गए।

बांग्लादेश : 1533 घटनाएं हुईं, 783 लोग मारे गए
पाकिस्तान से अलग होकर बने बांग्लादेश में काफी कम आतंकी घटनाएं दर्ज हुई हैं। यहां वर्ष 2000 से लेकर अब तक यानी 19 अप्रैल 2022 तक केवल 1533 आतंकी घटनाएं हुई हैं। इसमें 783 आम नागरिकों की मौत हो गई, जबकि 78 सुरक्षाबलों के जवान भी मारे गए। सेना और पुलिस की कार्रवाई में 1,386 आतंकी भी ढेर हुए। यहां 2000 से लेकर 2021 तक 2035 आतंकियों ने सरेंडर किया, जबकि 43 हजार 294 दहशतगर्दों को गिरफ्तार किया गया। 12 सुसाइड अटैक की घटनाएं भी हुईं। इसमें 167 लोग मारे गए।

श्रीलंका : 14 हजार हमले, 12 हजार 519 लोग मारे गए
आतंकवादियों ने श्रीलंका में भी खूब खूनी खेल खेला। यहां वर्ष 2000 से लेकर अब तक 14 हजार 480 आतंकी हमले हुए। इसमें 12 हजार 519 आम नागरिकों की मौत हुई, जबकि सुरक्षाबल के 5,516 जवान भी मारे गए। इस दौरान 22 हजार 259 आतंकवादी भी मारे गए।

साउथ एशिया टेररिज्म पोर्टल के मुताबिक, 22 साल में श्रीलंका में 10 हजार 261 आतंकियों ने सरेंडर किया, जबकि 2,581 दहशतगर्दों को यहां की पुलिस और सेना ने गिरफ्तार किया। 70 सुसाइड अटैक भी हुए, जिसमें 1035 लोग मारे गए।

नेपाल : सात हजार हमले, तीन हजार लोगों की जान गई
पड़ोसी देश नेपाल भी आतंकवादी हमलों से बच नहीं पाया है। यहां वर्ष 2000 से लेकर अब तक 7,135 आतंकी हमले दर्ज हुए हैं। इनमें 1,179 आम नागरिकों की मौत हुई, जबकि 2388 जवान भी शहीद हुए। इस दौरान 10 हजार 299 आतंकी भी ढेर हो गए।

नेपाल में सुरक्षाबल के जवानों ने 3,531 आतंकवादियों को जिंदा भी पकड़ लिया। 2,825 दहशतगर्दों ने सरेंडर किया। यहां आठ मामले सुसाइड अटैक के भी दर्ज हुए हैं।

मालदीव : कम हमले हुए, मौतें भी कम हुईं
5.41 लाख की आबादी वाले मालदीव में 34 आतंकी हमले हुए। इन हमलों में 17 लोग मारे गए। मालदीव की सेना और पुलिस ने 56 आतंकियों को गिरफ्तार भी किया। यहां कोई भी सुसाइड अटैक नहीं हुआ।

भूटान : सबसे कम हमले हुए
भारत का सबसे शांत पड़ोसी देश भूटान ही है। यहां 22 सालों में केवल नौ आतंकी हमले हुए हैं। इनमें आठ नागरिकों की मौत हुई, जबकि 16 आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया। भूटान में 24 आतंकवादियों ने सरेंडर किया तो यहां के सुरक्षाबलों ने 104 दहशतगर्दों को गिरफ्तार भी किया।

गूगल पर ‘Bhikhari’ सर्च करने पर इनकी दिखती है तस्वीर, देख कर आप भी चौंक जायेंगे

1

गूगल पर ‘Bhikhari’ सर्च करने पर इनकी दिखती है तस्वीर, देख कर आप भी चौंक जायेंगे जी हाँ हाल ही में कुछ फोटो वायरल हुईं थीं जिनमें भिखारी सर्च करने पर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की तस्वीर दिखाई देती थी। यह सच है या झूट यह जानने के लिए गूगल पर हमने भिखारी सर्च किया जिसके बाद मई भी चौंक गया।

Bhikhari
Photo- Firstpost

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ट्विटर पर उपहास का नवीनतम शिकार बन गए हैं, जब कोई गूगल पर ‘बिखारी’ (Bhikhari) सर्च लरता है तो उनकी तस्वीरें सामने आती हैं।

जब कोई गूगल पर सर्च बॉक्स में ‘भिखारी’ शब्द टाइप करता है, तो Google स्क्रीन पर पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान की तस्वीरों को दिखता है

2019 में पाकिस्तान सरकार ने नरेंद्र मोदी सरकार के जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को रद्द करने के फैसले के बाद भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार को निलंबित कर दिया था

जिसके बाद पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ट्विटर पर उपहास का नवीनतम शिकार बन गए थे, उनकी तस्वीरें तब सामने आती हैं जब कोई Google खोज पर ‘भिकारी’ (भिखारी) खोजता है। अज्ञात कारणों से सर्च इंजन की दिग्गज कंपनी ने ‘भिकारी’ शब्द की खोज करने पर खान की तस्वीरें दिखा रहा है।

 

अगर आप गूगल पर भिखारी सर्च करेंगे तो आपको इमरान खान की तस्वीरें दिखाई देंगी, कुछ लोगों ने यहाँ तक लिखा था की गूगल भी जनता है की सबसे बड़ा भिखारी कौन है।

यह भी पढ़ें-  Khargone में दंगे के बाद लोगों के बीच वैमनस्यता बढ़ी, गैर हिंदू से वस्तु नहीं खरीदने की ली शपथ

source

Khargone में दंगे के बाद लोगों के बीच वैमनस्यता बढ़ी, गैर हिंदू से वस्तु नहीं खरीदने की ली शपथ

मध्य प्रदेश (MP) के खरगोन (Khargone) में दंगे के बाद लोगों के बीच वैमनस्यता और बढ़ गई है। अब यह शहर से गांव तक जा पहुंची है। जिले के कई गांवों में हिंदू संगठन के सदस्य जनता को सार्वजनिक रूप से एक संकल्प दिला रहे हैं। उन्हें विधर्मियों (गैर हिंदू) की दुकानों से कपड़ा, चप्पल या अन्य कोई भी वस्तु नहीं खरीदने की शपथ दिलवाई जा रही है।

संकल्प लेने के वीडियो हो रहे वायरल
जिले के उबदी, पिपरी और इच्छापुर गांव में इस तरह के आयोजन हो चुके हैं। वहीं, बिस्टान और केली में भी ऐसे मामले सामने आए हैं। संकल्प लेने के वीडियो भी वायरल हो रहे हैं। साथ ही हाट-बाजारों में भी आर्थिक बहिष्कार की बातें सामने आ रही हैं।

खरगोन के उबदी गांव में विधर्मियों से सामान नहीं खरीदने का संकल्प लेती महिलाएं, इस दौरान कुछ बच्चे भी मौजूद रहे।
Photo- Dainik Bhaskar

यह है संकल्प
‘आज से हम संकल्प लेते हैं कि विधर्मियों की दुकानों से कपड़ा, चप्पल या अन्य कोई भी वस्तु नहीं खरीदेंगे, न ही उन्हें अपनी कोई भी वस्तु बेचेंगे। हे महाकाल, हमारे संकल्प को पूरा करने की उपयुक्त शक्ति और मनोवृत्ति प्रदान करें।’

संकल्प के दौरान हाथों में पूजा की थाली लेकर खड़े पुरुष और महिलाएं। ।
Photo- Dainik Bhaskar

बता दें कि 10 अप्रैल को रामनवमी पर हुए उपद्रव में शारीरिक, मानसिक, आर्थिक और धार्मिक क्षति हुई थी। इससे लोगों के मन पर गहरा घाव हुआ है, जिसके फल स्वरूप लोग अपने-अपने स्तर पर आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें-  Lucknow News: मलिहाबाद सामुदायिक स्वास्थ केंद्र में एक डॉक्टर का मेज पर पिस्तौल रख कर मरीजों का इलाज करते हुए वीडियो वायरल

Source