HomeUttar PradeshSambhalशर्मनाक: सामूहिक दुष्कर्म मामले में आरोपितों को गिरफ्तार करने के बजाय किशोरी...

शर्मनाक: सामूहिक दुष्कर्म मामले में आरोपितों को गिरफ्तार करने के बजाय किशोरी पर समझौते का दबाव बना रही थी पुलिस, पीड़िता ने की आत्महत्या

महिला अपराध पर सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) की जीरो टालरेंस (zero tolerance) की नीति के बाद भी पुलिस सुधरने को तैयार नहीं है। सम्‍भल में एक सामूहिक दुष्‍कर्म पीड़‍ित (gang rape victim) किशोरी ने पुलिस की लापरवाही के चलते आत्‍महत्‍या कर ली। पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार करने के बजाय किशोरी पर समझौते का दबाव बना रही थी। मृतका की मां ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

 

कुढ़ फतेहगढ़ थानाक्षेत्र के एक गांव में बुधवार की सुबह 16 साल की किशोरी ने फांसी लगा ली। घटना की जानकारी होने पर परिवार वालों का गुस्सा उफान पर आ गया। पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए किशोरी की मां ने न्याय मांगा। जिस किशोरी ने खुदकुशी की उसके साथ 15 जुलाई को सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। पुलिस ने एक माह बाद 15 अगस्त को मुकदमा दर्ज किया और अब तक आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं कर सकी थी। उल्‍टे पुलिस समझौते का दबाव बना रही थी। इससे क्षुब्ध होकर किशोरी ने यह कदम उठाया।

 

सामूहिक दुष्‍कर्म आरोपितों की अब गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही

इस मामले में पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने का अभियोग सामूहिक दुष्कर्म में नामजद आरोपितों के परिवार वालों के खिलाफ पंजीकृत किया है। अब गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है लेकिन, आरोपितों का पता नहीं है। उधर मामले की जानकारी होने के बाद डीआइजी मुरादाबाद शलथ माथुर (DIG Moradabad Shalabh Mathur) भी घटना स्थल की ओर रवाना हुए हैं।

 

किशोरी की मां ने बताया कि बुधवार की सुबह उनकी बेटी का शव घर में ही फांसी के फंदे से लटकता हुआ मिला। उन्होंने बताया कि 12 जुलाई को उनकी बेटी को रजपुरा थानाक्षेत्र के सिसौना गांव निवासी सोवेंद्र भगा ले गया। उसके साथ उसकी मदद अटवा गांव निवासी वीरेश, जीनेश और होलू ने किया। 15 जुलाई को उनकी बेटी वापस आई तो स्वजनों को अपने साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म की जानकारी दी।

 

सामूहिक दुष्‍कर्म मामले में पुलिस ने जाँच के नाम पर टरकाया

किशोरी गांव में ही कक्षा आठ की छात्रा भी थी। उसे लेकर मां थाना कुढ़ फतेहगढ़ पहुंची लेकिन पुलिस ने जांच के नाम पर दोनों को खूब टरकाया। यहां तक मामले का अभियोग एक माह बाद 15 अगस्त को पंजीकृत किया गया। पुलिस ने सोवेंद्र, वीरेश, जीनेश, होलू के खिलाफ अपराध संख्या 67, धारा 363, 457, 376 (1), 506 व 3/4 पाक्सो एक्ट के तहत अभियोग दर्ज कर विवेचना एसआइ अनिल कुमार को दे दी।

 

एक तो एक माह बाद अभियोग पंजीकृत हुआ और उसके बाद गिरफ्तारी न होने से किशोरी तथा उसका परिवार पूरी तरह दहशत में आ गए। न्याय न मिलने की स्थिति किशोरी की मां ने इंस्पेक्टर कुढ़फतेहगढ़ तथा सीओ चन्दौसी के यहां भी आवेदन दिया लेकिन, कहीं सुनवाई नहीं हुई। इससे किशोरी मानसिक रूप से परेशान हो गई थी। मंगलवार की रात वह सोने गई और सुबह उसका शव फंदे से लटकता हुआ मिला। उधर, देर शाम मुरादाबाद से डीआइजी शलभ माथुर भी घटनास्थल की ओर रवाना हो गए।

 

एसपी चक्रेश मिश्र  (Sambhal SP Chakresh Mishra) ने बताया कि 15 जुलाई को किशोरी के साथ एक युवक ने दुष्कर्म किया था। इस मामले में अभियोग दर्ज कर लिया गया था। बाद में 164 के बयान के बाद तीन और नाम अभियोग में जोड़े गए। इस मामले में बुधवार की सुबह किशोरी के खुदकुशी किए जाने के मामला सामने आया है।

 

शव कब्जे में लिया गया है। इस प्रकरण में आइपीसी की धारा 306 के तहत दुष्कर्म के आरोपितों के परिवार वालों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है। जो भी दोषी मिलेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

पुलिस अफसर हुए कोपभाजन का शिकार

दुष्‍कर्म पीड़‍िता की मौत की सूचना मिलने पर जब पुलिसकर्मी पहुंचे तो उन्‍हें मृतका की मां ने खूब खरी खोटी सुनाई। मृतका की मां ने कहा कि न मुझे न्याय दे पाए न मेरी बेटी को। अब क्या करने आए हो। पैसे खा लिए। मां ने यहां तक आरोप लगाया कि लाखों रुपये थाने के इंस्पेक्टर व सीओ ने विवेचक के साथ मिलकर खा लिए। यदि आरोपितों को जेल भेज देते तो बेटी जिंदा होती।

 

मृतका की मां की चीखें सुनकर लोगों के मन में पुलिस के प्रति काफी आक्रोश दिखा। इस मामले में कहीं न कहीं कुढ़फतेहगढ़ पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई थी। ऐसे में एक अधिकारी जिसका नाम मरने वाली किशोरी की मां भी ले रही थीं, वह काफी देर बाद पहुंचे। इसके पहले वह थाने में ही रूक गए। उन्हें मालूम था कि यह बड़ा मामला है और आरोपों के छींटों से बचा नहीं जा सकता है।

 

पीड़िता की मां का पुलिस पर आरोप लगाते वीडियो वायरल

पीड़िता की मां का वीडियो भी कुछ युवकों ने बनाया है। इसमें मां का दर्द सामने आया है। इसी वीडियो में मां ने कुढ़फतेहगढ़ थाना की पुलिस को कठघरे में खड़ा किया है। इसी वीडियो में मां ने सीओ, इंस्पेक्टर और विवेचक पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

यह भी पढ़ें- Congress President: सोनिया गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष के लिए लिया चौंकाने वाला नाम, देखें कौन है कांग्रेस अध्यक्ष के लिए यह नया चेहरा

Source

India Times News
India Times Newshttps://www.indiatimesnewstoday.com
Ajay Srivastava founder india times news . Through his life, Ajay Srivastava has always been the strongest proponent of News an media. Over the years, he has lent his voice to a number of issues but has always remained focused on propagating non-violence, equality and justice.
RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Most Popular

Recent Comments